Locust attack in india

Locust attack



These days India is trying hard to handle the crisis of Corona and in between this India is facing new problems, the team of locusts who come to India have created a different kind of terror. The grasshopper arrived from Pakistan first reached Rajasthan, the locust which has come in millions are spreading and attacking on fruits and veggies . Rather, it has knocked in many areas of Madhya Pradesh coming from Rajasthan and grasshopper team have not only stopped in Madhya Pradesh, but have moved to Nagpur, Maharashtra. 



In Amravati and Wardha districts of Maharashtra, Millions of locusts are spreading and attacking in which vegetables and fruits have suffered a lot. Locusts are visible in many places of Rajasthan, the wall is filled with locusts on many places.

The locusts in the world are found in many areas of Africa such as Kenya, Uganda, South Sudan. The team of locusts are unable to travel at night. They can travel only during the day time and they fly on the side of the wind. This locust is dangerous for all types of vegetable and fruits. 


Hindi Translation -

टिड्डियों का हमला


इन दिनों भारत जैसे तैसे कोरोना के संकट को संभालने का प्रयास कर रहा है, तो इस बीच पाकिस्तान से आई है और एक चुनौती । इन दिनों भारत पाकिस्तानसे आए नयी मुसिबतोंका सामना कर रहा है, भारत में आये टिड्डियोंके दल ने अलग तरह का खौप मचा रखा है. पाकिस्तानसे आई हुई टिड्डिया सबसे पहले राजस्थान पहुंची, लाखोके तादात में आई हुई टिड्डिया अभी जगह जगह फ़ैल रही है और हमला कर रही है. बल्कि इतना नहीं ये राजस्थान  से आते आते मध्य प्रदेशके के कई इलाको में दस्तक दे चुकी है और टिड्डियोंका दल मध्यप्रदेश में ही नहीं रुका तो वो महाराष्ट्र के नागपुर तक पोहच गया है.   

महाराष्ट्र के अमरावती और वर्धा जिले में टिड्डियोंके दल ने लाखो के तादात पर हमला किया जिसमे सब्जी और फलो को काफी नुकसान हुआ है. राजस्थान के कई जगह टिड्डिया ही टिड्डिया दिखाई दे रही है तो कई जहग पर दीवार पूरी तरहा  टिड्डयोंसे भरि पड़ी है.


दुनिया में सबसे ज्यादा टिड्डिया अफ्रीका के केन्या, युगांडा ,दक्षिण सूडान जैसे कई इलाको में पाए जाते है. टेड्डीयोंका दल रात के समय यात्रा नहीं कर पाते है. ये सिर्फ दिन के समय में ही यात्रा कर सकते है और हवा का जोर जिस तरफ होता है उस तरफ उड़ान भरते है. ये टिड्डिया सभी प्रकार के सब्जी भाजी के लिए खतरनाक है.  

                                 
                              - Thank you  -


Post a Comment

0 Comments